Saturday, April 17, 2021
More

    डिजिटल जनगणना (Digital Census)-2021

    1.  डिजिटल जनगणना (Digital Census) —2021 क्या है?
    देश में पहली बार जनगणना (Census) के लिए पारंपरिक कागज और कलम के स्थान पर इस बार की जनगणना इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस (मोबाइल एप) के द्वारा की जाएगी। यह एक ऐतिहासिक कदम होगा। इसके लिए 3750 करोड़ रुपये के बजट का आवंटन भी किया गया है। पहली बार वर्ष 2021 में डिजिटल जनगणना में मोबाइल एप के द्वारा 16 भाषाओं में जानकारी दी जाएगी।

    2.  जनगणना (Census) की शुरुआत कब से हुई थी?
    स्वतंत्रता के बाद पहली बार 1951 में जनगणना हुई थी जिसके बाद हर दस वर्ष के अंतराल पर देश में जनगणना होती है। जनगणना में सिर्फ लोगों की गिनती नहीं होती हैं बल्कि सारा ब्यौरा होता है। गुणवत्ता पूर्ण आँकड़ों के लिए इस बार बजट में डिजिटल जनगणना की घोषणा की गई है

    3.  जनगणना एक्ट (Census Act) क्या है?
    भारत में जनगणना एक्ट (Census Act) 1948 और 1990 के नियमों के तहत जनगणना की जाती है। जनगणना के आँकड़ों के आधार पर राज्य और केंद्र सरकार अपनी पॉलिसी निर्माण करती है। इस कारण से जनगणना का डिजिटलीकरण किया जाना नीति निर्धारण में भी अत्यंत सहायक साबित होगा।

    4.  जनगणना (Census) के आंकड़ें का महत्व क्या है?
    जनगणना के आंकड़े से भविष्य की योजनाएँ, विकास योजनाएं और कल्याणकारी योजनाएँ बनाने में मदद मिलती है। ये आंकड़े बहुआयामी होते हैं और देश की उन्नति में अहम योगदान देते हैं। केन्द्रीय गृह मंत्रालय जनगणना की पूरी प्रक्रिया को मॉनिटर करता है। इसकी पूरी प्रक्रिया को देश में रजिस्ट्रार जनरल और जनगणना आयुक्त संचालित करता है।
    जनगणना के आंकड़ें के आधार पर ही अनुसूचित जाति (दलित) और अनुसूचित जनजातियों (आदिवासियों) के लिए संसद और विधान सभाओं में सीटों का आरक्षण तय होता है। इसी आधार पर उन्हें शिक्षा और नौकरी में आरक्षण आदि दिया जाता है।

    5.  जनगणना- 2021 (Census-2021) कब शुरू होगी?
    देशभर में 1 अप्रैल से जनगणना – 2021 की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। जनगणना की यह प्रक्रिया 30 सितम्बर 2021 तक चालू रहेगी। इसमें प्रत्येक व्यक्ति से 31 तरह के प्रश्न पूछे जाएँगे जिसमें उसके मोबाइल नंबर, इंटरनेट, स्मार्ट फोन के प्रयोग की जानकारी आदि मांगी जाएगी।
    यह देश की 16वीं और स्वतंत्र भारत की 8वीं जनगणना होगी। यह जनगणना 16 भाषाओं में की जाएगी। इस जनगणना- 2021 का विषय (थीम) ‘जनभागीदारी से जनकल्याण’ है।

    6.  जनगणना में पूछे जाने वाले कुछ प्रमुख प्रश्न –
    *  घर के मुखिया के नाम, मकान नंबर एवं घर की स्थिति, घर की दीवार और छत में मुख्य रूप से प्रयुक्त सामग्री।
    *  घर में रहने वाले लोगों की संख्या, लिंग, विवाहित लोगों की संख्या।
    *  पेयजल की उपलब्धता और जल स्रोत, शौचालय,वाशरूम और ड्रेनेज सिस्टम।
    *  रसोईघर और एलपीजी /पीएनजी कनेक्शन की स्थिति।
    *  रेडियो /ट्रांजिस्टर, टेलीविजन और इंटरनेट कनेक्शन एवं यातायात के साधन, जैसे – साइकिल, मोटर साइकिल या कार/ जीप आदि से संबंधित प्रश्न।

    7.  वर्ष 2021 की जनगणना की रूपरेखा क्या होगी?
    भारत में वर्ष 2021 में होने वाली जनगणना विश्व की सबसे अधिक डाटा एक्सरसाइज वाली होगी। जनगणना में न सिर्फ लोगों की आबादी गिनी जाएगी, बल्कि लोगों के सामाजिक आर्थिक डाटा भी इकट्ठे किए जाएँगे। डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देने के लिए 2021 की जनगणना मोबाइल एप के जरिए की जाएगी। इस मोबाइल एप में डिजिटल तरीके से आंकड़े उपलब्ध होंगे। डिजिटल जनगणना के लिए 31 लाख से अधिक प्रशिक्षित कर्मचारी लगाए जाएँगे। इस दौरान देश भर में लोगों के डाटा कलेक्शन एंड्राइड बेस्ट स्मार्ट फोन के द्वारा एकत्रित किया जाएगा। जनगणना में जनसंख्या, उसमें महिला-पुरुष का अनुपात, जाति, शिक्षा का स्तर, उम्र, जन्म-मृत्यु, लोगों के घरों की स्थिति( कच्चा-पक्का) , पलायन, व्यवसाय आदि का ब्यौरा होगा। जनगणना से संबंधित डाटा वर्ष 2024-25 तक देश को उपलब्ध हो सकेगा।

    8.  जनगणना (Census)में तकनीक (Technology) के प्रयोग से क्या लाभ होगा?
    *  समय की बचत : मोबाइल एप और इंटरनेट के माध्यम से जनगणना के आँकड़ों को बहुत ही कम समय में केन्द्रीय कार्यालय से साझा किया जा सकेगा।
    *  मानवीय भूलों में कमी : इस व्यवस्था में जनगणना प्रगणकों द्वारा अंकित सूचनाओं को सीधे केन्द्रीय सर्वर में भेजा जा सकेगा जिससे सूचनाओं के हस्तांतरण में होने वाली मानवीय भूलों की संभावना को कम किया जा सकेगा।

    9.  वर्ष 2011 की जनगणना की मुख्य बातें –
    *  कुल जनसंख्या –
    > 1,21,05,69,573 व्यक्ति
    *  कुल पुरूष –
    > 62,31,21,843
    *  कुल महिला –
    > 58,74,47,730
    *  कुल ग्रामीण जनसंख्या –
    > 83,34,63, 448 (68.8%)
    *  कुल शहरी जनसंख्या –
    > 37,71,06, 125 (31.2%)
    *  दशकीय (2001-2011)वृद्धि दर –
    > 18,19,59,458 (17.7%)
    *  दशकीय वृद्धि दर (ग्रामीण जनसंख्या) –
    > 9,09,73,022 (12.3%)
    *  दशकीय वृद्धि दर (शहरी जनसंख्या) –
    > 9,09,86,438 (31.8%)
    *  कुल साक्षर जनसंख्या –
    > 76,34,98,517 (73%)
    *  लिंगानुपात –
    > 943 महिलाएँ प्रति 1000 पुरूष
    *  ग्रामीण लिंगानुपात –
    > 949 महिलाएँ प्रति 1000 पुरूष
    *  शहरी लिंगानुपात –
    > 929 महिलाएँ प्रति 1000 पुरूष
    *  पुरूष साक्षरता –
    > 43,46,83,779 (80.9%)
    *  महिला साक्षरता –
    > 32,88,14,738 (64.6%)
    *  जनसंख्या घनत्व –
    > 382 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी
    *  0-6 वर्ष तक की आयु की जनसंख्या –
    > 16.45 करोड़
    *  अनुसूचित जाति –
    > 20.14 करोड़ (16.6%)
    *  अनुसूचित जाति –
    > 10.43 करोड़ (8.6%)
    *  सबसे अधिक प्रजनन दर वाला राज्य –
    > बिहार (3.7)
    *  सबसे कम प्रजनन दर वाला राज्य –
    > तमिलनाडु (1.7)
    *  सबसे बड़ा राज्य –
    > बिहार (जनसंख्या घनत्व में)
    *  सबसे छोटा राज्य –
    > अरूणाचल प्रदेश (जनसंख्या घनत्व में)
    *  सर्वाधिक जनसंख्या वाला राज्य –
    > उत्तर प्रदेश
    *  सबसे पिछड़ा राज्य –
    > हरियाणा (लिंगानुपात में)

    10.  जनसंख्या से संबंधित कुछ प्रश्न और उनके उत्तर :
    (i) भारत में कितने वर्षों के अंतराल पर जनगणना की जाती है?
    > प्रत्येक 10 वर्ष के अंतराल पर।
    (ii) केंद्र सरकार को जनगणना का दायित्व किस आधार पर दिया गया है?
    > संविधान के अनुच्छेद-246 के द्वारा।
    (iii) भारत की पहली जनगणना कब और किसके द्वारा करवाई गई थी?
    > वर्ष 1872 में, लार्ड मेयो के द्वारा।
    (iv) भारत में नियमित जनगणना की शुरुआत कब और किसके द्वारा की गई?
    > वर्ष 1881 में, लार्ड रिपन के द्वारा।
    (v) किस वर्ष को जनगणना का महाविभाजक वर्ष कहा जाता है?
    > वर्ष 1921 को।
    (vi) पहली बार जाति आधारित जनगणना कब की गई थी?
    > वर्ष 1931 में।
    (vii) किस वर्ष को जनगणना का लघु विभाजक वर्ष कहा गया है?
    > वर्ष 1951 को।
    (viii) वर्ष 1951 की जनगणना के अनुसार भारत की सारक्षता दर कितनी थी?
    > 18.33%
    (ix) किस दशक में निरक्षरों की संख्या में सर्वाधिक कमी आई?
    > वर्ष 1991 से 2001
    (x) विश्व जनसंख्या दिवस कब मनाया जाता है?
    > 11 जुलाई को।

    Recent Articles

    ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग (Prince Philip: Duke of Edinburgh)

    1.  प्रिंस फिलिफ कौन थे?वे ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के पति थे। उनका 9 अप्रैल, 2021 को विंडसर कैसेल में निधन...

    नागरिकता संशोधन अधिनियम Citizenship Amendment Act (CAA)

    वर्तमान में 5 राज्यों (पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, केरल, पांडिचेरी और असम) में चल रहे चुनावों के भाषणों, रैलियों आदि में CAA, NRC...

    गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम Unlawful Activities Prevention Act (UAPA)

    UAPA Act एक बार फिर चर्चाओं में आ गया है। हाल ही में किसान आंदोलन के अंतर्गत 26 जनवरी, 2021 को ट्रैक्टर...

    रजनीकांत :51 वां दादा साहेब फाल्के पुरस्कार विजेता

    सिनेमा जगत के 'थलाइवा' (भगवान) अभिनेता और दक्षिण फिल्मों के सुपर स्टार रजनीकांत को 51वें दादा साहेब फाल्के पुरस्कार (वर्ष 2019)  से...

    विमुद्रीकरण (Demonetization) और देश की आर्थिक व्यवस्था

    1.  नोटबंदी या विमुद्रीकरण (Demonetization) क्या है?विमुद्रीकरण (Demonetization) एक आर्थिक गतिविधि है जिसके अंतर्गत सरकार पुरानी मुद्रा को समाप्त कर देती है...

    Related Stories

    Leave A Reply

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Stay on top - Get the daily news in your inbox