INS करंज

0
570
Indian Navy’s INS Karanj commissioned
Indian Navy’s INS Karanj commissioned

1.  INS करंज क्या है?
INS करंज (INS KARANJ) भारत की नई पनडुब्बी है जिसे भारतीय नौसेना ने अपने जंगी बेडे़ में 10 मार्च, 2021 (बुधवार) को पानी में उतारा। यह भारत में बनने वाली स्कॉपीन श्रेणी की तीसरी पनडुब्बी है। यह स्टेल्थ और एयर इंडिपेंडेंट प्रॉपल्शन समेत कई तरह की तकनीकों से लैस है। इसे मझगांव डॉकयार्ड लिमिटेड ने फ्रांसीसी कंपनी मेसर्स नेवल ग्रुप के साथ ट्रांसफर ऑफ टेक्नोलॉजी के करार के अंतर्गत बनाया है। यह अब से लगभग एक वर्ष तक बंदरगाह से लेकर खुले समुद्र में कई तरह के परिक्षणों से गुजरेगी। यह लगभग 350 मी गहरे समुद्र में तैनात किया जा सकता है।

2.  इस पनडुब्बी का विशेषताएँ क्या है?
इस पनडुब्बी की विशेषताएं निम्नलिखित हैं —
(i) INS करंज (INS KARANJ) में सतह और पानी के अंदर से टॉरपीडो और ट्यूब लांच्ड एंटी शिप मिसाइल दागने की क्षमता है।
(ii) यह लगभग 70 मी लंबी, 12मी ऊँची और 1565 टन वजनी है।
(iii) यह मिसाइल से लैस है और समुद्र में माइन्स बिछाने में सक्षम है।
(iv) यह रडार की पकड़ में नहीं आते हुए जमीन पर हमला करती है।
(v)  यह एक ऐसी पनडुब्बी है जिसे लंबी दूरी वाले मिशन में ऑक्सीजन लेने के लिए सतह पर आने की जरूरत नहीं है।
(vi) इसमें एंटी सरफेस वॉरफेयर, एंटी-सबमरीन वॉरफेयर, खुफिया जानकारी जुटाने, माइन लेयिंग और एरिया सर्विलांस जैसे मिशनों को अंजाम देने की क्षमता है।
(vii) इसमें ऐसी तकनीक का प्रयोग किया गया है जिससे दुश्मन देशों की नौसेनाओं के लिए इसकी टोह लेना मुश्किल होगा। इन तकनीकों में अत्याधुनिक अकुस्टिक साइलेंसिंग तकनीक, लो रेडिएटेड नॉइज लेवल, हाइड्रो डायनामिकली ऑप रिमाइज्ड शेप शामिल हैं।
(viii) इस तकनीक को डीआरडीओ के नेवल मैटेरियल रिसर्च लैब ने विकसित किया है।
(ix) इसमें एयर इंडिपेंडेंट प्रॉपल्शन तकनीक है जिसकी मदद से सबमरीन के अंदर ही ऑक्सीजन बनाई जा सकती है।

3.  INS करंज (INS KARANJ) को साइलेंट कीलर क्यों कहा जाता है?
इस पनडुब्बी में विश्व का सबसे अच्छा सोनार सिस्टम (Sonar system) लगाया गया है, जिससे इसकी आवाज कोई भी नहीं सुन सकता है। यह बड़ी आसानी से दुश्मन के घर में घुसकर उसे तबाह कर सकती है।

4.  KARANJ का Full form क्या है?
KARANJ का Full form है —K- किलर इन्सटिक्ंट, A-आत्मनिर्भर(भारत) , R-रेडी, A-एग्रेसिव, N-निम्बल और J-जोश।

5.  स्कॉरपीन श्रेणी क्या है?
स्कॉरपीन श्रेणी पनडुब्बियों की श्रेणी है। आईएनएस करंज भारतीय नौसेना में शामिल होने वाली स्कॉरपीन श्रेणी की तीसरी पनडुब्बी है। उससे पहले इसी श्रेणी की दो पनडुब्बियां-आईएनएस कलवरी और आईएनएस खंडेरी नौसेना के बेड़े से जुड़ चुकी हैं। आईएनएस वेला सहित तीन पनडुब्बियां अभी आनी बाकी है। आईएनएस वेला का समुद्री परिक्षण अभी चल रहा है।

Gyani Labs