Friday, January 21, 2022
More

    दत्तात्रेय होसबाले (दत्ता जी) :एक परिचय

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने 20 मार्च, 2021 को संगठन में बड़े बदलाव करते हुए 65 वर्षीय दत्तात्रेय होसबाले को नया सरकार्य वाह ( General secretary ) नियुक्त किया है। होसबाले, सुरेश भैय्या जी का स्थान लेंगे, जो 2009 से इस पद पर थे। होसबाले 2009 से सह कार्यवाह का दायित्व संभाल रहे थे। संघ में प्रत्येक तीन वर्ष पर सरकार्यवाह का चुनाव होता है।

    1.  जीवन परिचय – दत्तात्रेय होसबाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह और प्रसिद्ध विचारक है। उनका जन्म ही संघ से जुडे़ परिवार में हुआ था। इसलिए उनके भीतर RSS की राष्ट्रवादी विचारधारा शुरू से ही रही।इन का जन्म 1 दिसम्बर, 1955 को कर्नाटक के शिमोगा जिले के सोरावा तालुक में जन्म हुआ। ये युवावस्था से ही काफी तेज-तर्रार कार्यकर्ता रहे हैं।

    2.  शिक्षा -इनकी प्रारंमिक शिक्षा गाँव में हुई। आगे की पढ़ाई उन्होंने बेंगलुरु युनिवर्सिटी से अंग्रेजी में मारटर्स की शिक्षा ली। इन्होंने अंग्रेजी विषय से स्नातकोत्तर तक की शिक्षा ग्रहण की है। इनकी मातृभाषा कन्नड़ है, इसके अतिरिक्त ये अंग्रेज़ी, हिन्दी, संस्कृत, तमिल, मराठी आदि अनेक भारतीय एवं विदेशी भाषाओं के मर्मज्ञ विद्वान हैं।

    3.  सक्रिय जीवन – ये 1968 में 13वर्ष की अवस्था में संघ के स्वयंसेवक बने तथा सन् 1972 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् से जुडे़। ये अगले 15 वर्ष तक परिषद् के संगठन महामंत्री रहे। ये सन 1975-77 के जेपी आंदोलन में भी सक्रिय थे। इन्हें लगभग पौने दो वर्ष ‘मीसा’ के अंतर्गत जेल में रहना पड़ा। जेल में इन्होंने दो हस्तलिखित पत्रिकाओं का संपादन भी किया

    4.  अन्य कार्य – ये लोकप्रिय कन्नड़ मासिक ‘असीमा’ के संस्थापक-संपादक हैं। ये सन् 1978 में नागपुर नगर संपर्क प्रमुख के रूप में विद्यार्थी परिषद् में पूर्णकालिक कार्यकर्ता हुए। इन्होंने परिषद् के राष्ट्रीय संगठन-मंत्री के पद को सुशोभित किया।

    5.  भ्रमण – इन्होंने नेपाल, रूस, इंग्लैंड, फ्रांस और अमेरिका की यात्राएँ की है। इन्होंने भारत वर्ष की अनेक बार प्रदक्षिणा की है।
    वर्ष 2004 में ये संघ के अखिल भारतीय सह-वौद्धिक प्रमुख बनाए गए। तत्पश्चात ये 2008 से सह-सरकार्यवाह के पद पर कार्यरत थे।

    * सरकार्यवाह का चुनाव कैसे होता है?
    RSS में सर संघचालन के बाद सरकार्यवाह का पद सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। विश्व के सबसे बड़े संगठन के दूसरे प्रमुख पद के लिए जब चुनाव होता है, तो कोई तामझाम नहीं रहता है और न ही कोई दिखावा होता है। इस चुनाव की प्रक्रिया में पूरी केन्द्रीय कार्यकारिणी, क्षेत्र व प्रांत के संघचालक, कार्यवाह व प्रचारक और संघ की प्रतिज्ञा किए गए सक्रिय स्वयंसेवकों की ओर से चुने गए प्रतिनिधि शामिल होते हैं।

    6.  नरेन्द्र मोदी और दत्तात्रेय होसबाले
    नए सरकार्यवाह होसबाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नजदीकी माने जाते हैं। वे नई शिक्षा नीति, एन आर सी जैसे गुद्दों पर मोदी सरकार के समर्थन में रहे हैं। कोरोना महामारी को लेकर जब केंद्र सरकार ने लॉकडाउन का सख्त फैसला लिया था तब उन्होंने सरकार की प्रशंसा की थी।

    7.  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की संरचना
    >  डॉ मोहन भागवत — सर संघचालक
    >  दत्तात्रेय होसबाले —सरकार्यवाह
    >  डॉ कृष्ण गोपाल, डॉ मनमोहन वैद्य, मुकुंद, अरुण कुमार, रामदत्त चक्रधर —सह सरकार्यवाह
    >  स्वांत रंजन, जगदीश प्रसाद, सुनील भाई मेहता, मंगेश भिंडे, सुनील कुलकर्णी, अनिल ओक —संगठन श्रेणी
    >  पराग अभयंकर, राजकुमार मटाले, रामलाल, रमेश पप्पा, सुनील देशपांडे, सुनील आंबेकर, नरेंद्र ठाकुर, आलोक कुमार —जागरण श्रेणी
    >  सुरेश चंद्र— प्रचारक।

    Recent Articles

    - Advertisement -

    Related Stories

    Leave A Reply

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Stay on top - Get the daily news in your inbox