Saturday, April 17, 2021
More

    हर घर जल योजना

    1.  हर घर जल योजना क्या है?
    भारत सरकार ने जल जीवन मिशन या हर घर जल योजना (Har Ghar Nal Yojna) की घोषणा 2020-2021 के बजट में की था। इसका उद्देश्य देश के सभी घरों में पाइप लाइन से स्वच्छ जल पहुँचाना है। यह लक्ष्य पूरा करने के लिए 2024 तक का समय तय किया गया है। सरकार इस योजना पर 3.5 लाख करोड़ रुपये खर्च करेगी।
    9 अक्टूबर, 2020 को जल शक्ति मंत्रालय द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, ”हाल ही में गोवा राज्य ने प्रत्येक ग्रामीण घर में नल कनेक्शन उपलब्ध करवा कर देश का पहला हर घर जल राज्य बना।”

    2.  यह योजना क्यों शुरू की गई?
    देश के कई क्षेत्रों में आज भी लोगों को पानी लेने के लिए कई किलोमीटर दूर तक चल कर जाना पड़ता है ऐसा साफ पानी मिल सके इसलिए किया जाता है। इसे देखते हुए सरकार ने यह योजना शुरू की है। नल जल योजना में लोगों को नि:शुल्क पानी मिलेगा। हर घर में एक कनेक्शन किया गया हैं। लोगों को इसके अलावा घरों में अन्य कनेक्शन नहीं लेगें तो स्वयं करवाना होगा। विभाग द्वारा यह नहीं किया जाएगा।
    हर घर जल योजना शुरू होने से लोगों के बीच गर्मी में जल के संकट से निजात मिलेगी। उसके साथ आर्सेनिक प्रभावित इलाके के लोगों को युद्ध पेयजल मिल सकेगा।

    3.  हर घर जल योजना का उद्देश्य क्या है?
    इस योजना के अंतर्गत 2024 सरकार देश के ग्रामीण क्षेत्रों में हर एक घर में पीने के पानी का कनेक्शन देगी। घरों तक जल पहुँचाने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जाएगा। इसके अंतर्गत जल संरक्षण जैसे विषयों पर भी काम किया जाएगा।

    4.  हर घर जल योजना से क्या लाभ होगा?
    लोगों को घर पर ही पीने का साफ जल मिलेगा। इसके लिए उन्हें कहीं दूर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगा। उन्हें पानी की समस्या से पूरी तरह छुटकारा मिल जाएगा।

    5.  इस योजना की विशेषताएं क्या है?
    *  नल कनेक्शन के माध्यम से प्रतिदिन 55 लीटर पर्याप्त और स्थायी पानी की आपूर्ति करना।
    *  स्वामित्व की भावना लाने के लिए पूँजीगत लागत का (नकद या क्षम) 5-10 प्रतिशत सामुदायिक योगदान।
    *  प्रदर्शन प्रोत्साहन के रूप में गाँव के बुनियादी ढाँचे की लागत से पानी समिति को 10 प्रतिशत दिया जाना।
    *  पानी की आपूर्ति की गुणवत्ता की जाँच के लिए गाँव के 5 व्यक्तियों विषेतम महिलाओं को प्रशिक्षित करना।
    *  जल जीवन मिशन के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए विभिन्न स्रोतों से योगदान स्वीकार करने के लिए राष्ट्रीय जल जीवन कोष की स्थापना करना।

    6.  इस योजना की वर्तमान स्थिति क्या है?
    अभी तक केवल 50% घरों में ही पाइपलाइन से स्वच्छ जल की आपूर्ति होती है। सरकार ने इसका क्षेत्र बढ़ाने का फैसला किया है। उसने 2024 तक हर घर नल, हर घर जल पहुँचाने का लक्ष्य रखा है।

    7.  योजना का बजट कितना है?
    केन्द्रीय बजट में 2020-21 के दौरान 11,500 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया था। 2019-20 के दौरान लगभग 84 लाख उपभोक्ताओं को नल कनेक्शन प्रदान किए गए। अब एक लाख परिवारों को दैनिक आधार पर नल कनेक्शन दिया जा रहा है। आर्सेनिक दूषित क्षेत्र में (2019-2020) 71 लाख परिवारों और फ्लोराइड दूषित क्षेत्रों में 5.35 लाख लोगों को सुरक्षित पेयजल (DWS 2020) प्रदान किया गया। सरकार कह चुकी है कि इसमें अपनी पुरी ताकत छोक रही है। इसके लिए 3.5 लाख करोड़ रुपये खर्च करने की तैयारी हैं। बजट 2020-21 में इस राशि के आवंटन कर सरकार ने घोषणा की थी। इस योजना के पुरा होने पर एक आदमी को प्रतिदिन 135 लीटर जल मिलेगा।

    8.  नए बजट वर्ष 2021-22 में जल आपूर्ति की व्यवस्था क्या है? 
    *  विश्व स्वास्थ्य संगठन के सर्वसुलभ स्वास्थ्य लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए स्वच्छ जल, स्वच्छता और स्वच्छ वातावरण की महत्ता का बार-बार बल दिया गया है। इस मकसद को हासिल करने के लिए जल जीवन मिशन (शहरी) लांच किया जाएगा।
    *  इसके लिए 2,87,000 करोड़ रुपये 5 वर्ष के लिए आवंटित किए गए हैं।
    *  इसमें 4378 शहरी स्थानीय निकायों में नल से जल लक्ष्य रखा गया है।
    *  इसमें 500 अमृत शहरी की तरह अपशिष्ट प्रबंधन की व्यवस्था की गई है।

    Recent Articles

    ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग (Prince Philip: Duke of Edinburgh)

    1.  प्रिंस फिलिफ कौन थे?वे ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के पति थे। उनका 9 अप्रैल, 2021 को विंडसर कैसेल में निधन...

    नागरिकता संशोधन अधिनियम Citizenship Amendment Act (CAA)

    वर्तमान में 5 राज्यों (पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, केरल, पांडिचेरी और असम) में चल रहे चुनावों के भाषणों, रैलियों आदि में CAA, NRC...

    गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम Unlawful Activities Prevention Act (UAPA)

    UAPA Act एक बार फिर चर्चाओं में आ गया है। हाल ही में किसान आंदोलन के अंतर्गत 26 जनवरी, 2021 को ट्रैक्टर...

    रजनीकांत :51 वां दादा साहेब फाल्के पुरस्कार विजेता

    सिनेमा जगत के 'थलाइवा' (भगवान) अभिनेता और दक्षिण फिल्मों के सुपर स्टार रजनीकांत को 51वें दादा साहेब फाल्के पुरस्कार (वर्ष 2019)  से...

    विमुद्रीकरण (Demonetization) और देश की आर्थिक व्यवस्था

    1.  नोटबंदी या विमुद्रीकरण (Demonetization) क्या है?विमुद्रीकरण (Demonetization) एक आर्थिक गतिविधि है जिसके अंतर्गत सरकार पुरानी मुद्रा को समाप्त कर देती है...

    Related Stories

    Leave A Reply

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Stay on top - Get the daily news in your inbox