Friday, January 21, 2022
More

    मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना, बिहार

    1.  बिहार में मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना क्या है?
    बिहार सरकार ने बाल कन्या विवाह रोकने के लिए प्रमुख पहल के रूप में मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना प्रारंभ की है। इस योजना के अंतर्गत बिहार सरकार एक बालिका के जन्म पर 5000 रूपये, इंटरमीडिएट परीक्षा (अविवाहित) के पूरा होने पर 10000 रू० और स्नातक डिग्री उत्तीर्ण करने पर 25000 रू० देगी। इस महत्वाकांक्षी कल्याणकारी योजना से प्रतिवर्ष लगभग 1.6 करोड़ लड़कियाँ लाभान्वित होंगी। यह एक सारभौमिक योजना है जो किसी जाति, धर्म और आय के आधार पर बिना किसी भेदभाव के सभी लड़कियों (बिहार की मूल निवासी) के लिए उपलब्ध है।

    2.  यह योजना कब से लागू हुई?
    बिहार सरकार ने इस योजना को अप्रैल 2018 से इसे आधिकारिक रूप से लागू कर दिया है। वर्तमान में लड़कियों की शिक्षा पर प्रतिवर्ष 840 करोड़ रूपए सरकार खर्च करती है।इस योजना में सरकार प्रतिवर्ष 1400 करोड़ रूपए अतिरिक्त खर्च करेगी। इस प्रकार अब कुल राशि 2240 करोड़ रूपए प्रतिवर्ष होगी।

    3.  कन्याओं को दी जाने वाली राशि का स्वरूप क्या है?
    *  बिहार सरकार अब सभी लड़कियों को उनके जन्म के समय 5000 रूपए देगी।
    *  जब कोई लड़की (अविवाहित) इंटरमीडिएट की परीक्षा उत्तीर्ण करती है तो उसे प्रोत्साहन के रूप में 10000 रूपए मिलेंगे।
    *  जब कोई लड़की (विवाहित या अविवाहित) स्नातक की डिग्री उत्तीर्ण करती है तो उसे प्रोत्साहन के रूप में 25000 रूपए मिलेंगे।

    4.  मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना का उद्देश्य क्या है?
    मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के तहत राज्य में एक परिवार की दो लड़कियाँ इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकती है। इस योजना का प्रमुख उद्देश्य राज्य में कन्या शिशु भ्रूण हत्या को खत्म करना, कन्या शिशु मृत्यु दर में कमी लाना, लड़कियों का जन्म पंजीकरण और पूर्ण टीकाकरण करना, लिंग अनुपात में वृद्धि करना, लड़कियों के जन्म और उनके शिक्षा को बढ़ावा देना, बाल विवाह खत्म करना, लड़कियों को आत्मनिर्भर बनाना, परिवार और समाज के निर्माण में महिलाओं के योगदान में वृद्धि करना, लड़कियों के जीवन स्तर को बढ़ाना, लड़कियों के गौरव को बढ़ाना एवं लड़कियों को समाज में समानता का अधिकार दिलाना भी है।

    5.  मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के लाभ क्या हैं?
    *  लड़कियों का जीवन स्तर उठेगा।
    *  लड़का-लड़की के  लिंग भेद कम होंगे।
    *  बालिका शिशु मृत्यु दर कम होंगे।
    *  बेटी अब परिवार में बोझ नहीं समझी जाएगी।
    *  प्रत्येक लड़की को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
    *  प्रत्येक लड़की अपनी आगे की पढ़ाई जारी रख पाएगी।

    6. कन्या उत्थान योजना के लिए योग्यता क्या हैं?
    *  लड़की को बिहार का मूल निवासी होना अनिवार्य है।
    *  लड़की गरीब घर की होनी चाहिए।
    *  लड़की के घर कोई सदस्य सरकारी नौकरी के पद पर नहीं होना चाहिए।
    *  लड़की को 10000 रूपए की छात्रवृत्ति राशि प्राप्त करने के लिए उसे 12 वीं कक्षा का अंक पत्र जमा करना होगा।
    *  लड़की को 25000 रूपए की छात्रवृत्ति राशि प्राप्त करने के लिए उसे स्नातक का अंक पत्र जमा करना होगा।
    इसके अतिरिक्त बिहार सरकार लड़कियों को सेनेटरी नैपकिन के लिए अब 150 रू० के स्थान पर 300 रू० देगी।
    सरकार लड़कियों को कक्षा I से XII तक मिलने वाली यूनिफार्म राशि में भी बढ़ोतरी की है।

    7.  कन्या उत्थान योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या होंगे?
    *  आधार कार्ड।
    *  वोटर आई डी कार्ड की काॅपी।
    *  राशन कार्ड।
    *  बैंक पास बुक की फोटो कॉपी।
    *  पासपोर्ट साइज की फोटो।
    *  इंटरमीडिएट का अंक पत्र।
    *  स्नातक का अंक पत्र।

    Recent Articles

    - Advertisement -

    Related Stories

    Leave A Reply

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Stay on top - Get the daily news in your inbox