Friday, January 21, 2022
More

    पूर्वोत्तर भारत में पर्यटन

    पूर्वोत्तर भारत में आठ राज्य हैं : अरुणाचल प्रदेश , असम , मणिपुर , मेघालय , मिजोरम , नागालैंड सिक्किम और त्रिपुरा | भारत के ये प्रदेश पर्यटन के लिए हॉट स्पॉट बनकर उभरे हैं | विगत कुछ वर्षों में इन प्रदेशों में आने वाले घरेलू और विदेशी पर्यटकों की संख्या तेजी से बढ़ी है | आठ प्रदेशों का यह विशाल भूखण्ड प्राकृतिक भंडारों का गृह माना जाता है’| सुखद अवकाश के पल व्यतीत करने के लिए यें प्रदेश आदर्श विकल्प के रूप में जाने जाते हैं |

    अरुणाचल प्रदेश
    यह एक अत्यंत सुंदर प्रदेश है | बोमाडिला, तवांग और इसके आसपास के कई दर्शनीय बौद्ध स्थल हैं | पशिघाट का प्राकृतिक सौन्दर्य देखने योग्य है | अन्नी गोंपा , वार मेमोरिअलं, माधुरी लेक , नामदफा राष्ट्रीय उद्द्यान , माउलिंग राष्ट्रीय उद्यान दर्शनीय स्थल है | लोस्सोर , सी- दोन्याई , मोपिन , सोलुंग, परशुराम कुंद मेला, लिखबली मेला आदि प्रमुख त्यौहार और मेले हैं | Adventure के शौकीन ब्रह्मपुत्र नदी में river rafting का आनंद ले सकते हैं |

    असम
    प्रकृति प्रेमियों के लिए यह प्रदेश स्वर्ग से कम नहीं है | यह चाय के बागानों के लिए प्रसिद्ध है | कामख्या मंदिर , नवग्रह मंदिर , काजीरंगा नेशनल पार्क , मानस उद्द्यान , विश्व की सबसे बड़ी नदी द्वीप मंजुली , चंदुबी झील , होजो , बताद्रवा सुआलकूची आदि दर्शनीय स्थल है | बिहु , बाथोव पूजा , पोरग , बैसागू, जोन झील मेला, अम्बुवासी  आदि प्रमुख पर्व और मेले हैं |

    मणिपुर
     यहाँ का प्राकृतिक सौंदर्य आयर पहाड़ियों की खूबसूरती दर्शनीय है | इसकी राजधानी इंफाल प्राकृतिक सौंदर्य और वन्य जीवन से घिरी हुई है | गोविंद जी मंदिर , कांगला पैलेस , युद्ध स्मारक , इमा केथेल , इम्फाल घटी आदि इसके पर्यटन मे चार चाँद लगते है | तामेंगलांग में ऑरेंज महोत्सव काफी लोकप्रिय है |
    यहाँ जाइलद झील बेहद खुबसूरत स्थल है |

    मेघालय
     मेघालय की सुंदरता अत्यंत खास है | वर्षा के मौसम में यहाँ की पहाड़ियाँ लुभावनी दिखाई देती है | इस प्रदेश की राजधानी शिलांग की खूबसूरती और यहाँ की ऊँची ऊँची पहाड़ियाँ अत्यंत मनोरम है | यहाँ वार्ड लेक , लेडी हैदरी पार्क , पोलो ग्राउंड , मिनी चिड़ियाघर , एलिफेन्ट वाटर फॉल प्रमुख पर्यटक स्थल है |

    मिजोरम
     यहाँ के खुबसुरत धान के खेत , बाँस के जंगल , कल कल बहते झरने आदि आकर्षण के केंद्र हैं | यहाँ की राजधानी आइजोल धार्मिक और सांस्कृतिक केन्द्र हैं | चमफाई और तामदिल देखने लायक है | वाततांग जलप्रपात मिजोरम में सबसे ऊँचा और अति सुंदर जलप्रपात है | ट्रैकर्स के लिए मिजोरम स्वर्ग के सामान है |

    नागालैंड
    यहाँ 16 जनजातियाँ पाई जाती है | यहाँ हार्नबिल फेस्टिवल पर्यटकों के लिए प्रमुख आकर्षण हैं | यह फेस्टिवल पर्यटन विभाग द्वारा प्रतिवर्ष मनाया जाता है , जिसमें सभी 16 जनजातियाँ अपने अपने रीति- रिवाजों , परंपराओं एवं लोक नृत्य संगीत का प्रदर्शन करते हैं | इसमें मिजोरम , मेघालय समेत पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों के कलाकार भी अपने लोक संगीत और नृत्य का प्रदर्शन करते हैं | यहाँ के पर्यटन आकर्षणों में द्वितीय विश्व युद्ध का कब्रिस्तान , राज्य संग्रहालय , कोहिमा और दीमापुर के चिड़ियाघर शामिल हैं | प्रमुख शहरों में दीमापुर , कोहिमा
    , मोकोकचुंग, मों, फेक , त्वेनसांग  , वोखा , जुन्हेबाटो  मिलकर इसे अत्यंत सुंदर बनाते हैं |

    सिक्किम
    यह अपने सुंदर प्राकृतिक स्थल, बर्फ से ढके पहाड़ , रंग बिरंगे फूलों के मैदान आदि के कारण से प्रसिद्ध है | इसकी राजधानी गंगटोक पहुंचकर त्सोम्गो झील , डियर पेरक , नाथुला पास , रूमटेक मठ , इंची मठ , ताशी और लाल बाजार का भ्रमण किया जा सकता है | गुरुदौन्गमर लेक ऊंचाई वाली झीलों में से एक है | यहाँ कई पवित्र और चमकीले बौद्ध मठ, सुंदर हरी घाटियाँ और नदियां पर्यटकों को आकर्षित करने में अहम भूमिका निभाते हैं | त्रिपुरा
    यह अपनी हरी-भरी घाटियों और पहाड़ियों के लिए प्रसिद्ध है | यहाँ की राजधानी अगरतला अन्य प्रमुख पर्यटन स्थल है | धलाई , कैला शहर , उनकोटी और उदयपुर यहाँ के अन्य पर्यटन आकर्षण के केंद्र हैं | उदयपुर में जहाँ त्रिपुर सुन्दरी और भुवनेश्वर मंदिर है , वहीँ कैलाशहर में देवोतार मंदिर और चाय के बागान हैं जो सभी को आकर्षित करते हैं |

    Recent Articles

    - Advertisement -

    Related Stories

    Leave A Reply

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Stay on top - Get the daily news in your inbox