Saturday, March 6, 2021
More

    एस पी बालसुब्रमण्यम-एक बहुमुखी कलाकार

    एस पी बालसुब्रमण्यम (SP Balasubramaniam)का पूरा नाम श्री पति पंडिताराध्यलु बालसुब्रमण्यम था | उनका जन्म नेल्लोर के पास एक छोटे से गाँव कोनेटाम्पेट में एक तेलुगू भाषी परिवार में हुआ था | उनके पिता नेल्लौर  में हरिकथा कलाकार थे | वे मंदिरों में भजन गाते , नाटकों में काम करते थे | उनकी माँ एक घरेलू  महिला थी | उनकी पत्नी का नाम सावित्री बाल सुब्रमण्यम है | उनके दो बच्चे हैं एस ० पी ० वी चरन और पल्लवी बालसुब्रमण्यम | वे एक भारतीय पार्श्व गायक , अभिनेता, संगीत निर्देशक, गायक और फिल्म निर्माता थे |उन्हें कभी – कभी एसपीबी अथवा बालु के नाम से भी जाना जाता है |
    बचपन में बालू को संगीत में जरा भी रूचि नहीं थी | वे इंजीनियर बनकर विदेश जाना चाहते थे | चेन्नई में एक संगीत प्रतियोगिता “टैलेंट हंट “ में जीतने के बाद उनके जीवन का उद्देश्य बदल गया | उन्हें फिल्मों में बतौर प्ले बैक सिंगर काम मिलने लगा | 1966 में तेलुगु फिल्म “ मर्यादा राम अन्ना “ में पहली बार उन्होंने गाना गया था | सत्तर और अस्सी के दशक में तमिल , तेलुगू और कन्नड़ फिल्मों के वे चर्चित गायक बन गए | रोमांटिक गानों के अलावा शाश्त्रीय गानों पर भी उनकी पकड़ थी |
    लगभग पांच दशकों की अपनी गायिकी करियर में एसपी बी ने 16 भाषाओँ में 40 हजार से भी अधिक गाने गए | तमिल, तेलुगू , कन्नड़, मलयालम और हिंदी सहित कई भाषाओ में उन्होंने गाने गाए | सिनेमा में सर्वाधिक गाने गाकर उन्होंने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया |

    पुरस्कार और सम्मान
    सफलता के पदक – सर्वश्रेष्ठ गायक का नेशनल अवार्ड उन्हें 6 बार मिला – शंकराबरणम ( तेलुगू 1979), एक दूजे के लिए (हिंदी 1981 ) सागर संगमम ( तेलुगू, 1983), रूद्रवीणा ( तेलुगू , 1988) संगीत सागर गणयोगी, पंचाक्षरा ) गवई ( कन्नड़ 1995) मिंसार कनबु ( तमिल  1996)
    जीमा पुरस्कार – सर्वश्रेष्ठ डिवोशनल एलवम ज्यादा
    पद्म श्री (2001)
    पद्म भूषण (2011)
    एस पी बालसुब्रमण्यम के बारे में मशहूर है कि उन्होंने एक दिन में 21 कन्नड़ गाने गाकर रिकॉर्ड बनाया था | उनकी हस्ती और उनका हुनर हिंदी फिल्मों के दायरे से कहीं बड़ा है |
    एमजीआर, कमल हसन , रजनीकान्त से लेकर शाहरुख़ तक पूरे भारत के सुपरस्टार्स के लिए बालसुब्रमण्यम ने गाना गाया |
    अपनी आवाज से कमल हसन व रजनी कान्त के फर्क को गीतों में जैसे वह लाते थे| श्रोता उनके मुरीद रहे |
    गाने के अलावा एस पी ने 72 फिल्मों में बतौर अभिनेता काम किया | लघभग 46 फिल्मों में बतौर संगीतकार काम किया | गाने और एक्टिंग के अलावा वे एक कुशल डबिंग आर्टिस्ट भी थे | |एस पी बालसुब्रमण्यम ऐसे गायक थे, जिन्होंने कभी भाषा की परवाह नहीं की | भाव उनके सच्चे थे | तमिल, तेलुगू, कन्नड़ और हिंदी फिल्मों में गाए उनके चालीस हजार से ज्यादा गाने इस बात का प्रमाण है की कला देश – समाज और बोली से परे होती है | हर दिल अजीज और सुरों के इस जादूगर का 25 सितम्बर 2020को एम जी एम हेल्थ केयर , चेन्नई में 74 वर्ष की उम्र में कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण  निधन हो गया |  

    Recent Articles

    सकल घरेलू उत्पाद (GDP Full Form-Gross Domestic Product)

    1.  सकल घरेलू उत्पाद (GDP) का क्या अर्थ है?सकल घरेलू उत्पाद(GDP) एक विशिष्ट समय अवधि में देश की सीमाओं के अंदर सभी...

    हरिद्वार महाकुंभ 2021

    1.  कुम्भ किसे कहते हैं?'कु' पृथ्वी को कहते हैं तथा उम्भ परिपूरित करने को कहते हैं अर्थात् जो अपने प्रभाव से पृथ्वी...

    उच्च शिक्षा आयोग

    1.  उच्च शिक्षा आयोग क्या है?उच्च शिक्षा प्रणाली (Higher Education Commission) के द्वारा ही किसी देश के मानव संसाधन का उच्चतम विकास...

    अमेजोनिया-1 मिशन

    1.  अमेजोनिया-1 (Amazonia-1 satellite) मिशन क्या है?भारत के पीएसएलवी (ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान) सी-51 के द्वारा ब्राजील के अमेजोनिया-1 और 18 अन्य...

    आत्मनिर्भर भारत अभियान

    1.  आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है?आत्मनिर्भर भारत अभियान (Aatma Nirbhar Bharat Abhiyan) के माध्यम से अलग-अलग प्रकार की योजना देश के नागरिकों...

    Related Stories

    Leave A Reply

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Stay on top - Get the daily news in your inbox