Monday, September 20, 2021
More

    एस पी बालसुब्रमण्यम-एक बहुमुखी कलाकार

    एस पी बालसुब्रमण्यम (SP Balasubramaniam)का पूरा नाम श्री पति पंडिताराध्यलु बालसुब्रमण्यम था | उनका जन्म नेल्लोर के पास एक छोटे से गाँव कोनेटाम्पेट में एक तेलुगू भाषी परिवार में हुआ था | उनके पिता नेल्लौर  में हरिकथा कलाकार थे | वे मंदिरों में भजन गाते , नाटकों में काम करते थे | उनकी माँ एक घरेलू  महिला थी | उनकी पत्नी का नाम सावित्री बाल सुब्रमण्यम है | उनके दो बच्चे हैं एस ० पी ० वी चरन और पल्लवी बालसुब्रमण्यम | वे एक भारतीय पार्श्व गायक , अभिनेता, संगीत निर्देशक, गायक और फिल्म निर्माता थे |उन्हें कभी – कभी एसपीबी अथवा बालु के नाम से भी जाना जाता है |
    बचपन में बालू को संगीत में जरा भी रूचि नहीं थी | वे इंजीनियर बनकर विदेश जाना चाहते थे | चेन्नई में एक संगीत प्रतियोगिता “टैलेंट हंट “ में जीतने के बाद उनके जीवन का उद्देश्य बदल गया | उन्हें फिल्मों में बतौर प्ले बैक सिंगर काम मिलने लगा | 1966 में तेलुगु फिल्म “ मर्यादा राम अन्ना “ में पहली बार उन्होंने गाना गया था | सत्तर और अस्सी के दशक में तमिल , तेलुगू और कन्नड़ फिल्मों के वे चर्चित गायक बन गए | रोमांटिक गानों के अलावा शाश्त्रीय गानों पर भी उनकी पकड़ थी |
    लगभग पांच दशकों की अपनी गायिकी करियर में एसपी बी ने 16 भाषाओँ में 40 हजार से भी अधिक गाने गए | तमिल, तेलुगू , कन्नड़, मलयालम और हिंदी सहित कई भाषाओ में उन्होंने गाने गाए | सिनेमा में सर्वाधिक गाने गाकर उन्होंने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया |

    पुरस्कार और सम्मान
    सफलता के पदक – सर्वश्रेष्ठ गायक का नेशनल अवार्ड उन्हें 6 बार मिला – शंकराबरणम ( तेलुगू 1979), एक दूजे के लिए (हिंदी 1981 ) सागर संगमम ( तेलुगू, 1983), रूद्रवीणा ( तेलुगू , 1988) संगीत सागर गणयोगी, पंचाक्षरा ) गवई ( कन्नड़ 1995) मिंसार कनबु ( तमिल  1996)
    जीमा पुरस्कार – सर्वश्रेष्ठ डिवोशनल एलवम ज्यादा
    पद्म श्री (2001)
    पद्म भूषण (2011)
    एस पी बालसुब्रमण्यम के बारे में मशहूर है कि उन्होंने एक दिन में 21 कन्नड़ गाने गाकर रिकॉर्ड बनाया था | उनकी हस्ती और उनका हुनर हिंदी फिल्मों के दायरे से कहीं बड़ा है |
    एमजीआर, कमल हसन , रजनीकान्त से लेकर शाहरुख़ तक पूरे भारत के सुपरस्टार्स के लिए बालसुब्रमण्यम ने गाना गाया |
    अपनी आवाज से कमल हसन व रजनी कान्त के फर्क को गीतों में जैसे वह लाते थे| श्रोता उनके मुरीद रहे |
    गाने के अलावा एस पी ने 72 फिल्मों में बतौर अभिनेता काम किया | लघभग 46 फिल्मों में बतौर संगीतकार काम किया | गाने और एक्टिंग के अलावा वे एक कुशल डबिंग आर्टिस्ट भी थे | |एस पी बालसुब्रमण्यम ऐसे गायक थे, जिन्होंने कभी भाषा की परवाह नहीं की | भाव उनके सच्चे थे | तमिल, तेलुगू, कन्नड़ और हिंदी फिल्मों में गाए उनके चालीस हजार से ज्यादा गाने इस बात का प्रमाण है की कला देश – समाज और बोली से परे होती है | हर दिल अजीज और सुरों के इस जादूगर का 25 सितम्बर 2020को एम जी एम हेल्थ केयर , चेन्नई में 74 वर्ष की उम्र में कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण  निधन हो गया |  

    Recent Articles

    Winter Online Internship/Project Training

    Gyani Labs is a leading e-learning platform for engineering & diploma students. We provide a hybrid learning model with a synchronous &...

    ONLINE SPOKEN ENGLISH CLASS

    Registration Link: Click here Online Spoken English Free WorkshopDate: Sunday,...

    Top Java Interview Questions

    a) What is JAVA?Answer: Java is a high-level programming language and is platform-independent. It is a collection of objects and was developed...

    CoWIN goes global: 100+ nations show interest

    This is perhaps the first time any nation is making software developed by its public sector initiative open for the world. India...

    CCNA 200-301 Latest Syllabus

    NETWORK FUNDAMENTALSa) Explain the role and function of network componentsb) Describe characteristics of network topology architecturesc) Compare physical interface and cabling typesd)...

    Related Stories

    Leave A Reply

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Stay on top - Get the daily news in your inbox